भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सोमवार को पिंपरी स्थित सेवा विकास सहकारी बैंक का लाइसेंस तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया और इसके परिसमापन का आदेश दिया।

बैंक के आंकड़ों के अनुसार, लगभग 99 प्रतिशत जमाकर्ता अपने जमा खातों की पूरी राशि जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) से प्राप्त करने के हकदार हैं।

डीआईसीजीसी ने 14 सितंबर तक कुल जमा बीमा का 152.36 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।

आरबीआई ने कहा, "बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं।"