Internal link क्या है और यह SEO के लिए क्यों जरूरी है ?

Internal link क्या है और यह SEO के लिए क्यों जरूरी है ?

यदि आप एक Blogger है या फिर एक Blog शुरू करना चाहते है तो आपको Internal link के बारे में जरूर जाना चाहिए. क्योंकि Blogging में Internal link का बहुत महत्व है.

One Page SEO में Internal link का महत्वपूर्ण स्थान है. इसकी सहायता से हमारे Blog के Ranking और Traffic में सुधार आता है.

जो लोग बहुत से समय से Blogging कर रहे है उनको Internal link के बारे में बहुत जानकारियां होती है. Blogger इसका अच्छी तरह उपयोग करते है.

यदि आप Blogging के क्षेत्र में नए है और Internal link को ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं मानते है. तो आप कभी भी Search Engine में Ranking प्राप्त नहीं कर पाओगे.

यदि आप यह जानना चाहते है कि Internal link क्या है और यह कैसे काम करता है तो इस Post को पूरा पढ़े.

Internal link क्या है in Hindi ?

Internal link वो Hyper Link होते है जो Website या Blog के एक Page को इसी Website के दूसरे Page के साथ जोड़ते है.

यह link एक पेज से दूसरे पेज की तरफ जाने को इशारा करती है. हम जब किसी Post की link पर Click करते है तो उसी Website के किसी दूसरे Page पर Redirect हो जाते है.

इस तरह के Internal link का उपयोग Website या Blog में करना बहुत आवश्यक होता है. यदि हम इस तरह के links का उपयोग नहीं करते तो हमारी Website के Traffic पर बहुत ज्यादा Effect पड़ेगा और साथ ही हमें Imprassion भी नहीं मिलेगा.

Internal Link SEO के लिए क्यों जरूरी है ?

SEO का full form Search Engine Optimization होता है. Internal link को यदि SEO के आधार से देखा जाए तो इसकी बहुत Importance होती है.

हम इसकी सहायता से link Buld करके हमारे पेजों की Ranking में सुधार कर सकते है.

अगर हम Google Bot की बात करें तो उनको ऐसी website अच्छी लगती है जिनमें Internal link का उपयोग किया जाता है.

Internal link की वजह से Google Bot हमारे Page को भी अच्छी तरह से Crawl करता है. इससे हमारे Page को भी index होने में Google Bot की सहायता मिलती है.

Internal link करने पर SEO का फायदा ?

1.Internal link के Add करने से Post SEO Frindly होती है –

हम हमारे Blog में Internal link का उपयोग करके हमारी Post को SEO Friendly बना सकते है. इससे कोई भी User ज्यादा समय तक हमारी Post को Read करेगा.

जब वह Link की सहायता से दूसरे Page में जायेगा तो उसको कोई problem नहीं होगी. जब कोई User हमारी Post पर जितने समय तक रहेगा हमारी Post में Ranking में भी उतना ही सुधार होगा. इससे हमारे Page Viem भी बढ़ेंगे.

2.CTR और Bounce Rate में सुधार –

यदि आप Blogging से Relate करते है तो हमारा Bounce और CTR का तो मालूम ही होगा.

हमारी website का CTR कितना ज्यादा होना चाइए और Bounce Rat जीतना कम होगा उतना ही हमारा Website Grow करेगा.

Internal linking से हमारी Post में Click भी ज्यादा आते है जिससे हमारा CTR भी Increase होता है.

User हमारी Post पर ज्यादा समय बताएगा. इससे हमारी Bounce Rate घटती है जो कि website के लिए अच्छी बात है.

3.Old Post पर Traffic बढ़ता है –

हम जब हमारी Post में किसी पुरानी Post के link को Add करते है जिससे उन Post के लिंक का Juice पास होता है.

जब हमारी Post में Ranking Increase होने से Us Post पर Traffic आना Start हो जाएगा.

इससे हमारी Website पर Page Viem भी बढ़ते है.

पुरानी Post को Promot करने का सबसे अच्छा तरीका है.

4.Internal link से Article Fast Index होता है –

Internal link के उपयोग से Google bot को हमारी website को समझने में Help मिलती है. इसका हमें फायदा होता है.

इससे Google में हमारा Article जल्दी Rank भी हो जाता है और साथ ही Index भी हो जाता है.Google Bot जब हमारी website को crawl करते है तो हमारी website की Post के link को follow करते है.

इससे हमारी Post को अच्छी तरह Index कर सके. इसलिए हमारे Article में Strong link को भी add करना चाहिए.

Internal link का प्रयोग कैसे करते है ?

SEO Internal link के लिए क्यों जरूरी होता है यह तो समझ लिया होगा. अब मे आपको इनका उपयोग करने के बारे में बताऊंगा.

हम को Internal link को Add करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है जो में आपको यह बताऊंगा.

1.Anchor Text का Right Use –

जब भी हम Internal link को Add करते है तो उस समय में Anchor Text का Use करना जरूरी होता है.

जब हम Post में link को Add करते समय जिन Sentence या Word का उपयोग करते है उन्हे Anchor Text कहते है.

Anchor Text भी बहुत प्रकार के होते है. हमारे को सिर्फ Exact Match Anchor Text का Use Link को Add करने के लिए करना है.

हम जिस भी Post का Link Add करते है. उस Post का Article हमारे उस Anchor Text को साथ में खाना चाहिए.

2.Related Post के Link को Add करे –

आप जब भी Post में कोई link को Add करें तो एक बात का ध्यान रखना चाहिए. हम जो भी link Article मे Add कर रहे है वह हमारे Article से Related होनी चाहिए.

जब हमारी Post को Google Bot Crawl करता है तो वह link को भी करता है. यदि हमारे link Article से संबंधित रहते है तो Google bot हमारी Post को भी अच्छी तरह Rank करेगा.

आज क्या सीखा ?

आज हमने इस पोस्ट मेे बताया है कि Internal link क्या है in Hindi ? इसी तरह की ओर नई जानकारियों के लिए हमारे साथ जुड़े रहे.

Internal link के बारे मे आपको समझन में कोई भी प्रोब्लम नही होगी. यदि हमारा पोस्ट अच्छा लगा तो इसको Share जरूर करें .

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.

Leave a Reply

0 Shares
Tweet
Share
Share
Share
Pin